महात्मा गांधी के अनमोल विचार mahatma gandhi quotes in hindi

महात्मा गांधी

महात्मा गांधी के anmol vichar

 

मोहनदास करमचन्द गांधी भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। जिन्हें हम बापू के नाम या केवल Mahatma Gandhi के नाम से जानते हैं। इनका जन्म  2 October 1869 को तथा मृृत्यु 30 January 1948 को हुआ था।

 

महात्मा गांधी के अनमोल महान विचार

 

1.  प्रेम है वहां जीवन है।

 

2. खुद वो बदलाव बनिए जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं।

 

3. ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो. ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो।

 

4. भगवान का कोई धर्म नहीं है।

 

5. पाप से घृणा करो, पापी से प्रेम करो।

 

6. स्वयं को जानने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है स्वयं को औरों की सेवा में डुबो देना।

 

महात्मा गांधी की जीवनी हिन्दी में 

 

7. आप आज जो करते हैं उसपर भविष्य निर्भर करता है।

 

8. हर रात, जब मैं सोने जाता हूँ, मैं मर जाता हूँ। और अगली सुबह, जब मैं उठता हूँ, मेरा पुनर्जन्म होता है।

 

9. किसी चीज में यकीन करना और उसे ना जीना बेईमानी है।

 

10.  महात्मा गांधी, मेरी अनुमति के बिना कोई भी मुझे ठेस नहीं पहुंचा सकता।

 

11. जब भी आपका सामना किसी विरोधी से हो. उसे प्रेम से जीतें।

 

12. आप तब तक यह नहीं समझ पाते की आपके लिए कौन महत्त्वपूर्ण है जब तक आप उन्हें वास्तव में खो नहीं देते।

 

13. सत्य एक है, मार्ग कई।

 

14. कुछ करने में , या तो उसे प्रेम से करें या उसे कभी करें ही नहीं।

 

15. शक्ति शारीरिक क्षमता से नहीं आती है। ये अदम्य इच्छा शक्ति से पैदा होती है।

 

16. अगर मेरे अन्दर कोई सेंस ऑफ़ ह्यूमर नहीं होता तो मैं बहुत पहले आत्महत्या कर चुका होता।

 

17. एक विनम्र तरीके से, आप पूरी दुनिया को हिला सकते हैं।

 

18. मैं उसे धार्मिक कहता हूँ जो दूसरों का दर्द समझता है।

 

19. एक सभ्य घर के बराबर कोई विद्यालय नहीं है और एक भले अभिभावक जैसा कोई शिक्षक नहीं है।

 

20. महात्मा गांधी, तभी बोलो जब वो मौन से बेहतर हो।

 

21. गरीबी हिंसा का सबसे बुरा रूप है।

 

22. मेरे दोष और मेरी असफलताएं भगवान् के उतने बड़े ही आशीर्वाद हैं जितनी की मेरे सफलताएं और मेरी प्रतिभा और मैं इन दोनों को उनके चरणों में रखता हूँ।

 

23. अगर हम दुनिया में वास्तविक शांति चाहते हैं, तो हमें इसकी शुरुआत बच्चों से करनी होगी।

 

24. कमजोर कभी क्षमा नहीं कर सकता। क्षमाशीलता बलवानो का गुण है।

 

25. एक आदमी को सुधारने की तुलना में एक लड़के को बनाना आसान हैं।

 

26. मानवता की महानता मानव होने में नहीं है, बल्कि मानवीय होने में है।

 

27. आप बंद मुट्ठी से हाथ नहीं मिला सकते हैं।

 

28. जहाँ प्रेम है, वहां ईश्वर है।

 

29. व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित प्राणी है, वह जो सोचता है वही बन जाता है।

 

30. थोडा सा अभ्यास बहुत सारे उपदेशों से बेहतर है।

 

31. विश्वास को हमेशा तर्क से तौलना चाहिए. जब विश्वास अँधा हो जाता है तो मर जाता है।

 

32. पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे।

 

33. विश्व के सभी धर्म, भले ही और चीजों में अंतर रखते हों, लेकिन सभी इस बात पर एकमत हैं कि दुनिया में कुछ नहीं बस सत्य जीवित रहता हैं।

 

34. अपनी गलती को स्वीकारना झाड़ू लगाने के समान है जो सतह को चमकदार और साफ़ कर देती है।

 

Student के लिए उपदेश famous quotes in hindi 

 

35. गर्व लक्ष्य को पाने के लिए किये गए प्रयत्न में निहित है, ना कि उसे पाने में।

 

36. मैं मरने के लिए तैयार हूँ, पर ऐसी कोई वज़ह नहीं है जिसके लिए मैं मारने को तैयार हूँ।

 

37. सत्य कभी भी ऐसे कारण को क्षति नहीं पहुंचता जो उचित हो।

 

38. जब मैं निराश होता हूँ, मैं याद कर लेता हूँ कि समस्त इतिहास के दौरान सत्य और प्रेम के मार्ग की ही हमेशा विजय होती है। कितने ही तानाशाह और हत्यारे हुए हैं, और कुछ समय के लिए वो अजेय लग सकते हैं, लेकिन अंत में उनका पतन होता हैं। इसके बारे में सोचो- हमेशा।

 

महात्मा गांधी

 

39. तुम जो भी करोगे वो नगण्य होगा, लेकिन यह ज़रूरी है कि तुम वो करो।

 

40. दुनिया में ऐसे लोग हैं जो इतने भूखे हैं कि भगवान उन्हें किसी और रूप में नहीं दिख सकता सिवाय रोटी के रूप में।

 

41. आप मुझे जंजीरों में जकड़ सकते हैं, यातना दे सकते हैं, यहाँ तक की आप इस शरीर को नष्ट कर सकते हैं, लेकिन आप कभी मेरे विचारों को कैद नहीं कर सकते।

 

42. चिंता से अधिक कुछ और शरीर को इतना बर्बाद नहीं करता, और वह जिसे ईश्वर में थोडा भी यकीन है उसे किसी भी चीज के बारे में चिंता करने पर शर्मिंदा होना चाहिए।

 

43. जिस दिन प्रेम की शक्ति, शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जायेगी, दुनिया में अमन आ जायेगा।

 

44. हमारा आत्म-सम्मान नहीं ले सकते अगर हम उन्हें इसे दे ना।

 

45. एकमात्र तानशाह जिसे मैं स्वीकार करता हूँ वो है मेरे अन्दर की स्थिर छोटी सी आवाज़।

 

46. क्रोध और असहिष्णुता सही समझ के दुश्मन हैं।

तो ये थे हमारे देश के बापू के अनमोल विचार।

Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *