Topper कैसे बने student no 1 how to become a topper student

पढ़ना

Topper कैसे बने? टाॅपर सभी लोग बनना चाहते हैं लेकिन कुछ लोग ही बनते हैं। इसका कारण क्या  है? इसका कारण है कि

 

 

सभी लोग तो Topper बनना चाहते है। 

 

 

लेकिन जो Topper बनने के लिए चाहिए वैसी पढ़ाई नहीं करते  है। पढ़ाई नहीं करने के भी कई कारण हो सकते है। Ex- पढ़ाई करने का तरीका मालूम न होना। 

 

 

बदलते जमाने के अनुसार students को भी बदलना होगा। पहले 101% की बात होती थी अब 125% की बात होती है ।

 

 

मतलब students को Topper बनना है तो 100% नहीं 125% मेहनत करनी होगी। तब जाकर 100% सफलता की आशा कर सकते है।

 

 

आजकल competition का जमाना है प्रत्येक युवा के मन में चाहे परीक्षा में उत्तीर्ण होना हो या फिर जाॅब में सफलता प्राप्त करना, सपने पूर्ण होने जैसा है।

 

 

Student ke liye anmol vichar 

 

 

 

 

पर क्या कभी आपने सोचा कि सफलता प्राप्त करने के दौरान जो मेहनत करते हैं उससे एक कदम आगे बढ़ने पर परिणाम क्या होगा?

 

 

उदाहरण के तौर पर, कार्पोरेट world में कम्पनियाँ अपने ग्राहकों को खुश करने के लिए न जाने कितने तरह के प्रयत्न करती हैं। वे अच्छी सेवा के अलावा ग्राहक को इस बात का गर्व अनुभव करवाती हैं कि वे उसके ग्राहक हैं ।

 

चलिए एक छोटी-सी कहानी के माध्यम से समझते हैं।

 

 

एक बार एक व्यक्ति ने अपनी कार को गैराज पर सुधारने के लिए दिया। गैराज में कई लोग काम करते थे। इनमें एक युवा साथी भी था। गैराज में वह कार उसी के पास सुधरने के लिए आई ।

 

 

 

गाड़ी मालिक को गैराज मालिक ने शाम को आने के लिए कहा था। युवा साथी पूर्ण तन्मयता के साथ गाड़ी की खराबी दूर करने में जुट गया। उसके साथियों ने उससे कहा कि तुम इतनी मेहनत क्यों कर रहे हो गाड़ी शाम को देना है।

 

 

 

युवा साथी अपने काम में जुटा रहा। उसने न केवल गाड़ी को बेहतरीन तरीके से सुधारा बल्कि उसने कार की सफाई इतनी अच्छी तरह से कर दी कि कार बिल्कुल नई जैसी लगने लगी।

 

कार की सफाई के लिए कार मालिक ने नहीं कहा था। और इस बात को लेकर उसके साथियों ने उसका खूब मजाक उड़ाया।

 

 

युवा साथी ने इस मजाक को दिल में नहीं लगाया। शाम को गाड़ी मालिक जब कार लेने आया तब आश्चर्य में पड़ गया कि उसकी कार बिल्कुल नई जैसी दिखने लगी।

 

Topper

 

 

गाड़ी मालिक ने पूछा की कार का काम किसने किया। गैराज मालिक ने युवा साथी की ओर इशारा किया। गाड़ी मालिक ने उस युवा साथी से बातचीत की और उससे यह पूछा कि आखिर तुमने किसके कहने पर गाड़ी की सफाई की।

 

 

युवा साथी का कहना था कि वह बस अपना काम कर रहा था और उसे लगा कि गाड़ी को न केवल सुधारना चाहिए बल्कि उसे पूर्ण रुप से साफ करके ही गाड़ी मालिक को देना चाहिए।

 

 

उसके जबाव से मालिक न केवल संतुष्ट हुआ बल्कि उसने ज्यादा वेतन पर अपनी फैक्टरी में उसे नौकरी दे दी।

 

 

 

यह बात हमारे परीक्षा की तैयारी में भी लागू होती है। छात्रों को अच्छे अंक और सफलता के लिए अधिक से उधम करना चाहिए।

 

 

सही तकनीक, योजनावध्द तरीके से किया गया स्वाध्याय एवं कड़ी मेहनत, हमें सफल छात्र की अग्रिम पंक्ति में खड़ा कर सकती है।

 

 

किन बातों का रखें ख्याल :

1. पढ़ाई के दौरान न तो बार – बार पढ़ने से उठें और न फोन पर बातें करें।

 

 

2. लेटकर पढ़ाई न करें।

 

 

3. बहुत कम बचे दिनों में सभी विषयों को बराबर समय दें। अन्यथा पढ़े हुए विषय याद नहीं रहेंगे।

 

Topper

 

 

4. परीक्षा को सामान्य रूप से लें। इस बात को मन से निकाल दें कि यह विषय मुश्किल है या यह विषय आसान है। पूछे गये प्रश्न आपकी के अन्दर से ही आयेगा और खुद से यह बार-बार कहें।

 

 

 

 

हम अपनी काबलियत कैसे पहचाने। 

 

 

 

 

 5. बहुत सारी किताबों में एक साथ न उलझें।

 

 

6. अक्सर छात्रों को लगता है कि कम खाने से नींद नहीं आएगी , लेकिन यह गलत है, पढ़ाई के लिए खाना-पीना भी बहुब ही जरुरी है। छात्र घर का बना खाना खाएँ। बाजार के बने खाद्य-पदार्थो से जहाँ तक हो सके परहेज करें। अधिक – से-अधिक तरल पदार्थ लें। इसके साथ ही पूरी नींद लें।

 

 

7. पढ़ने के साथ ही लिखने का भी बराबर अभ्यास करें। स्कुल शिक्षकों द्वारा बताए गए सवाल को अच्छे से पढ़ें, साथही तीन घंटे बैठकर परीक्षा के माहौल में माॅडल टेस्ट पेपर को हल करें। अपनी तैयारी के दौरान पाठ कितने अंक का है इस बात का भी अवश्य  ध्यान रखें।

 

 

अपना सपना सच किजिए और Topper बनिएँ।

Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *