समाचार पत्र पर निबंध लिखे samachar essay in hindi news

समाचार

 समाचार पत्र वह कड़ी है जो हमें शेष दुनिया से जोड़ती है। जब हम समाचार – पत्र में देश-विदेश की खबरें पढ़ते हैं।

 

तो हम पूरे विश्व के अंग बन जाते हैं। उससे हमारे ह्रदय या ज्ञान का विस्तार होता है।

समाचार-पत्र लोकतंत्र का सच्चा पहरेदार है। उसी के माध्यम से लोग अपनी इच्छा, विरोध और आलोचना प्रकट करते हैं। यही कारण है कि राजनीतिज्ञ समाचार-पत्रों से बहुत डरते हैं।

नेपोलियन ने कहा था-

मैं लाखों विरोधियों की अपेक्षा तीन समाचार-पत्रों से अधिक भयभीत रहता हूँ।
समाचार-पत्र जनमत तैयार करते हैं। उनमें युग का बहाव बदलने की ताकत होती है। राजनेताओं को अपने अच्छे-बुरे कार्यों का पता इन्हीं से चलता है।
आज प्रचार का युग है।
यदि आप अपने माल को, अपने विचार को, अपने कार्यक्रम को या अपनी रचना को देशव्यापी बनाना चाहते हैं तो  samachar – patra का सहारा लें।
उससे आपकी बात शीघ्र सारे देश में फैल जाएगी। यदि किसी घटना को अखबार की मोटी सुर्खियों में स्थान मिल जाय तो वह घटना सारे देश का ध्यान अपनी ओर खींच लेती है।
देश के लिए न जाने कितने नवयुवकों ने बलिदान दिया, परन्तु जिस घटना को पत्रों में स्थान मिला, वे घटनाएँ अमर हो गईं।
Samachar-पत्र व्यापार को बढ़ाने में परम सिद्ध हुए हैं। विज्ञापन की सहायता से व्यापारियों का माल देश में ही नहीं विदेशों में भी बिकने लगता है।
रोजगार पाने के लिए भी अखबार उत्तम साधन है। हर बेरोजगार का सहारा अखबार में निकले नौकरी के विज्ञापन होते हैं।
इसके अतिरिक्त सरकारी या गैर-सरकारी फर्में अपने लिए कर्मचारी ढूँढ़ने के लिए अखबारों का सहारा लेती है। व्यापारी नित्य के भाव देखने के लिए तथा शेयरों का मूल्य जानने के लिए अखबार का मुँह जोहते हैं।
समाचार-पत्र से विभिन्न त्योहारों और महापुरुषों का महत्व पता चलता है। महिलाओं को घर-गृहस्थी सम्हालने के नए-नए नुस्खे पता चलते हैं। प्राय:अखबार में ऐसे कई स्थाई स्तम्भ होते हैं जो हमें विभिन्न जानकारियाँ देते हैं।
आजकल अखबार मनोरंजन के क्षेत्र में भी आगे बढ़ चले हैं। उनमें नई-नई कहानियाँ, किस्से, कविताएँ तथा अन्य बालोपयोगी साहित्य छपता है।
दरअसल, आजकल समाचार-पत्र बहुमुखी हो गया है। उससे द्रारा चलचित्र, खेलकूद, दूरदर्शन, भविष्य-कथन, मौसम आदी की अनेक जानकारियाँ मिलती हैं।
Samachar – पत्र के माध्यम से आप मनचाहे वर-वधू ढूँढ़ सकते हैं। अपना मकान, गाड़ी, वाहन खरीद-बेच सकते हैं।
खोए गए बन्धु को बुला सकते हैं। अपना परीक्षा-परिणाम जान सकते हैं। इस प्रकार समाचार-पत्रों का महत्त्व बहुत अधिक हो गया है।
Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *