Dalai lama के अनमोल विचार जो आपको सबसे महान बना दे

Dalai Lama

Dalai lama या चौदहवें दलाई लामा तेनजिन ग्यात्सो तिब्बत के राष्ट्राध्यक्ष और आध्यात्मिक गुरू हैं। इनका जन्म 6 July 1935 को हुआ था।

 

दलाई लामा के अनमोल और महान विचार

 

1. हम बाहरी दुनिया में कभी शांति नहीं पा सकते हैं, जब तक की हम अन्दर से शांत ना हों।

 

2. हमारे जीवन का उद्देश्य प्रसन्न रहना है।

 

3. जब कभी संभव हो दयालु बने रहिये। यह हमेशा संभव है।

 

Students के लिए महत्वपूर्ण उपदेश 

 

4. Dalai lama, मेरा धर्म बहुत सरल है। मेरा धर्म दयालुता है।

 

5. कभी-कभी लोग कुछ कह कर अपनी एक प्रभावशाली छाप बना देते हैं, और कभी-कभी लोग चुप रहकर अपनी एक प्रभावशाली छाप बना देते हैं।

 

6. मंदिरों की आवश्यकता नहीं है , ना ही जटिल तत्त्वज्ञान की। मेरा मस्तिष्क और मेरा हृदय मेरे मंदिर हैं; मेरा दर्शन दयालुता है।

 

7. यदि आप दूसरों की मदद कर सकते हैं, तो अवश्य करें ; यदि नहीं कर सकते हैं तो कम से कम उन्हें नुकसान नहीं पहुचाईए।

 

8. Dalai lama, सहिष्णुता के अभ्यास में, आपका शत्रु ही आपका सबसे अच्छा शिक्षक होता है।

9. पुराने मित्र छूटते हैं , नए मित्र बनते हैं। यह दिनों की तरह ही है। एक पुराना दिन बीतता है, एक नया दिन आता है। महत्त्वपूर्ण यह है कि हम उसे सार्थक बनाएं। एक सार्थक मित्र या एक सार्थक दिन।

10. अपनी क्षमताओं को जान कर और उनमें यकीन करके ही हम एक बेहतर विश्व का निर्माण कर सकते हैं।

 

11. सभी प्रमुख धार्मिक परम्पराएं मूल रूप से एक ही संदेश देती हैं – प्रेम , दया,और क्षमा , महत्वपूर्ण बात यह है कि ये हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा होनी चाहियें।

 

12. प्रेम और करुणा आवश्यकताएं हैं, विलासिता नहीं। उनके बिना मानवता जीवित नहीं रह सकती।

 

13. यह ज़रूरी है कि हम अपना दृष्टिकोण और ह्रदय जितना संभव हो अच्छा करें। इसी से हमारे और अन्य लोगों के जीवन में, अल्पकाल और दीर्घकाल दोनों में ही खुशियाँ आयेगी।

 

14. खुशहाली बनी बनाई नहीं मिलती उसके लिए तुम्हे कदम बढ़ाना पड़ेगा।

 

15. जब अज्ञान हमारा मास्टर बन जाता है तो सच्ची शान्ती की कोई उम्मीद नहीं रहती।

 

16. अपनी सफलता को जज करो की इसे पाने के लिए तुमने क्या खो दिया।

 

17. सच्चा हीरो वही है जो अपने क्रोध को जीत लेता है।

Dalai Lama

Amitabh Bachchan के अनमोल विचार

 

18. Dalai lama, तुम्हारा उदेश्य किसी दूसरे से अच्छा होना नहीं बल्कि जैसे तुम पहले थे उससे अच्छा होना , होना चाहिए।

 

19. आशावादी बनो इससे तुम अच्छा महसूस करोगे।

 

20. चुप रहना कभी कभी सबसे अच्छा जवाब देना है।

Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *