Henel Keller के अनमोल विचार जो आपके अंदर ऊर्जा पैदा कर दे

Helen Keller

Henel Keller या हेलेन एडम्स केलर एक अमेरिकी लेखक, राजनीतिक कार्यकर्ता और आचार्य थीं।

 

वह कला स्नातक की उपाधि अर्जित करने वाली पहली बधिर और दृष्टिहीन थी। इनका जन्म 27 June 1880 को तथा मृत्यु 1 June 1968 को हुआ था।

 

Henel Keller के महान विचार

 

1. यदि हम अपने काम में लगे रहे तो हम जो चाहें वो कर सकते हैं।

 

2. Henel Keller, पूरी दुनिया कष्टों से भरी है और उन कष्टों को पार पाने से भी।

 

3. मैं अकेली हूँ, लेकिन फिर भी मैं हूँ। मैं सबकुछ नहीं कर सकती, लेकिन मैं कुछ तो कर सकती हूँ, और सिर्फ इसलिए कि मैं सब कुछ नहीं कर सकती, मैं वो करने से पीछे नहीं हटूंगी जो मैं कर सकती हूँ।

 

क्रांतिवीर मदन लाल ढींगरा की जीवनी 

 

4. दुनिया की सबसे खूबसूरत चीजें ना ही देखी जा सकती हैं और ना ही छुई, उन्हें बस दिल से महसूस किया जा सकता है।

 

5. मैं महान और अच्छे काम करना चाहती हूँ, लेकिन यह मेरा परम कर्तव्य है कि मैं छोटे कामों को भी ऐसे करूँ जैसे कि वो महान और नेक हों।

 

6. खुद की तुलना ज्यादा भाग्यशाली लोगों से करने कि बजाये हमें अपने साथ के ज्यादातर लोगों से अपनी तुलना करनी चाहिए और तब हमें लगेगा कि हम कितने भाग्यवान हैं।

 

7. मैं कभी-कभार ही अपनी कमियों के बारे में सोचती हूँ, और वो मुझे कभी दुखी नहीं करते। शायद एक-आध बार थोड़ी पीड़ा होती है, पर वह फूलों के बीच में हवा के झोंके के समान अस्पष्ट है।

 

8. चरित्र का विकास आसानी से नहीं किया जा सकता।   केवल परिक्षण और पीड़ा के अनुभव से आत्मा को मजबूत, महत्त्वाकांक्षा को प्रेरित, और सफलता को हासिल किया जा सकता है।

 

9. Henel Keller, विश्वास वो शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में भी प्रकाश किया जा सकता है।

 

10. अकेले हम कितना कम हासिल कर सकते हैं, साथ में कितना ज्यादा।

 

11. जब एक खुशियों का एक दरवाजा बंद होता है तो दूसरा खुल जाता है, लेकिन कई बार हम काफी देर तक उस बंद दरवाजे को देखते हुए पछतावा करते रहते और इसलिए हम नए खुले हुए दरवाजे को देख नहीं पाते।

 

12. आप चेहरा हमेशा चमकते सूरज कि रौशनी कि तरफ रखे, आप कभी भी परछाई नहीं देखेंगे।

 

13. भगवान भी स्वयं में सुरक्षित नहीं है क्योंकि उन्होंने अपनी रचनाओं पर मनुष्य का आधिपत्य स्थापित कर दिया है।

 

14. आत्मदया हमारा सबसे बड़ा शत्रु है। और अगर हम इसके सामने झुके तो दुनिया में हम कभी भी कुछ भी अच्छा नहीं कर पायेंगे।

 

15. Henel Keller, दुनिया का सबसे दयनीय मनुष्य वह है जिसके पास दृष्टि तो है लेकिन भविष्य के लिए कोई सोच या नजरीया नहीं।

 

16. मृत्यु, एक कमरे से दूसरे कमरे में जाने से ज्यादा कुछ नहीं है। लेकिन, जैसा कि आप जानते है, मेरे लिए यह बहुत बड़ा अंतर होगा, क्योंकि दूसरे कमरे में जाने से मेरी देखने की क्षमता वापस आ जाएगी।

 

17. सहन या बर्दाश्त करने कि आदत, मस्तिष्क द्वारा प्रदान किया हुआ सबसे अच्छा उपहार है। क्योंकि इसे संतुलित बनाए रखने में उतना ही प्रयास करना पड़ता है, जितना अपने आप को एक साईकिल चलाते वक्त।

 

18. जीवन एक बहुत ही मजेदार है। यह तब और अधिक मजेदार बन जाता है जब आप इसे दूसरों के लिए जीते है।

 

 

Helen Keller

 

 

मेरे अनमोल विचार आपको सफल और महान बना देगे।

 

19. Henel Keller, जीवन या तो असाधारण घटनाओं भरी हुई यात्रा है या कुछ भी नहीं।

 

20. मैं दिन के उजाले में अकेले चलने की तुलना में अंधेरी रात में एक दोस्त के साथ चलना ज्यादा पसंद करूंगी।

 

21. रास्ते में मोड़, रास्ते का अंत नहीं होता ? जब तक आप मुड़ने में असफल नहीं होते।

Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *