प्लेटो के अनमोल विचार जो आपको सबसे महान बना दे part 2

Plato

प्लेटो के अनमोल विचार part – 2

 

23. अगर हर एक व्यक्ति अपनी प्राकृतिक काबिलियत के अनुसार, बिना और चीजों में पड़े, सही समय पर और सिर्फ एक काम करता तो चीजें कहीं बेहतर गुणवत्ता और मात्रा में निर्मित होतीं।

 

24. प्लेटो, जो अच्छा सेवक नहीं है वो अच्छा मालिक नहीं बन सकता।

 

25. तुम ये कैसे साबित कर सकते हो कि इस क्षण हम सो रहे हैं, और हमारी सारी सोच एक सपना है; या फिर हम जगे हुए हैं और इस अवस्था में एक दूसरे से बात कर रहे हैं?

 

 

अरस्तू के अनमोल विचार

 

 

26. मानव व्यवहार तीन मुख्या स्रोतों से निर्मित होता है: इच्छा, भावना, और ज्ञान।

 

27. ये एक आम कहावत है, और सभी कहते हैं, ज़िन्दगी कुछ समय के लिए कहीं पर ठहरना है।

 

28. प्लेटो, यदि उद्देश्य नेक ना हो तो ज्ञान बुराई बन जाता है।

 

29. मजबूरी में अर्जित किया गया ज्ञान मन पर पकड़ नहीं बना पाता।

 

30. प्लेटो, प्रेम एक गंभीर दिमागी बीमारी है।

 

31. अच्छे आदमी के साथ बुरा नहीं हो सकता, ना इस जीवन में ना मरने के बाद।

 

32. एक व्यक्ति एक साथ कई कलाओं में सफल नहीं हो सकता।

 

33. केवल मृत लोगों ने युद्ध का अंत देखा है।

 

34. कवी ऐसी महान और ज्ञान भरी बातें कहते हैं जो वो खुद नहीं समझते।

 

35. दोष उसका है जो चयन करता है: भगवान निर्दोष हैं।

 

36. जिस दिशा में शिक्षा व्यक्ति की शुरआत करती है वही जीवन में उसके भविष्य का निर्धारण करता है।

 

37. सबसे बड़ा धन थोड़े में संतोषपूर्वक जीना है।

 

38. आदमी की पहचान इससे होती है कि वो शक्ति के साथ क्या करता है।

 

39. प्लेटो, ज़िन्दगी को एक नाटक की तरह जीना चाहिए।

 

40. माता-पिता अपने बच्चों को वसीयत में धन नहीं बल्कि श्रद्धा की भावना दें।

 

41. बुद्धिमान लोग बोलते हैं क्योंकि की उनके पास कुछ कहने को होता है, बेवकूफ़ ; क्योंकि उन्हें कुछ कहना होता है।

 

42. आप किसी व्यक्ति के बारे में एक साल के वार्तालाप की बजाये एक घंटे के खेल में अधिक जान सकते हैं।

 

43. जो महान बनना चाहते हैं उन्हें ना स्वयं से ना अपने काम से प्रेम करना चाहिए, उन्हें बस जो उचित है उसे चाहना चाहिए, चाहे वो उनके या किसी और के ही द्वारा किया जाये।

 

44. अच्छी चीज को दुबारा करने में कोई नुकसान नहीं है।

 

45. दो मामलो में इंसान को कभी गुस्सा नहीं करना चाहिए, जिसमें वो मदद कर सकता हैं , और जिसमें वो मदद नहीं कर सकता हैं।

 

46. प्लेटो, भगवान की सेवा संतोषजनक है, इंसान की असहनीय।

 

47. प्रारंभ किसी काम का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा है।

 

48. लोग धूल की तरह होते हैं। या तो वो आपको पोषण दे एक व्यक्ति के रूप में विकसित होने में मदद कर सकते हैं, या वो आपका विकास रोककर और थका कर मृत कर सकते हैं।

 

49. प्लेटो, आवश्यकता…आविष्कार की जननी।

 

50. बिना न्याय के ज्ञान को बुद्धिमानी नहीं चालाकी कहा जाना चाहिए।

 

51. अज्ञानता, सभी बुराइयों कि जड़ और तना।

 

52. मैंने कभी भी कोई करने योग्य चीज संयोग से नहीं की, ना ही मेरे कोई आविष्कार इत्तफाक से हुए, वो काम करने से आये।

 

प्लेटो

 

 

सुकरात के अनमोल विचार 

 

53. प्लेटो, मैं शायद ही कभी ऐसे गणितज्ञ से मिला हूँ जो तर्क करना जानता हो।

 

54. वो जो कम चुराता है वो उसी इच्छा के साथ चुराता है जितना की अधिक चुराने वाला, परन्तु कम शक्ति के साथ।

 

55. अच्छे लोगों को जिम्मेदारी से रहने के लिए कहने हेतु क़ानून की ज़रुरत नहीं पड़ती, और बुरे लोग क़ानून से बच कर काम करने का रास्ता निकाल लेते हैं।

 

56. जैसा कि बिल्डर कहते हैं; बड़े पत्थर बिना छोटे पत्थरों के सही से नहीं लग सकते हैं।

 

57. हम अंधेरे से डरने वाले बच्चे को आसानी से माफ कर सकते हैं; जीवन की असली त्रासदी तब है, जब लोग प्रकाश से डरते हैं।

 

Plato के अनमोल विचार part – 1

Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *