Winston Churchill के अनमोल विचार जो आपको सबसे ज्यादा बेहतर बना दे

Winston Churchill

Winston Churchill / विंस्टन चर्चिल  युनाइटेड किंगडम  के प्रधानमंत्री थे।

ये एकमात्र प्रधानमंत्री थे जिन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

इनका जन्म 30 November 1874 को तथा मृृत्यु 24 January 1965 को हुआ था।

 

Winston Churchill के महान विचार

 

1. मैं उस आदमी को पसंद करता हूँ जो झगड़ते वक़्त मुस्कुराता है।

 

2. यदि हम भूत और भविष्य के विवाद में फंसते हैं तो हम पायेंगे कि हमने भविष्य खो दिया है।

 

3. युद्ध में आप एक ही बार मारे जा सकते हैं, लेकिन राजनीति में कई बार।

 

4. आपके दुश्मन हैं ? अच्छा है। इसका मतलब है कि आप अपने जीवन में कभी किसी चीज के लिए खड़े हुए होंगे।

 

5. Winston Churchill, हमें दया दिखानी चाहिए, पर माँगना नहीं चाहिए।

 

मेरे कुछ अनमोल विचार 

 

6. महानता का मूल्य जिम्मेदारी है।

 

7. सफलता अंत नहीं है, असफलता घातक नहीं है, लगे रहने का साहस ही मायने रखता है।

 

8. बार बार असफल होने पर भी उत्साह ना खोने में ही सफलता है।

 

9. इतिहास पढ़िए, इतिहास पढ़िए। इतिहास में ही राज्य चलाने के सारे रहस्य छिपे हैं।

 

10. कोई अपराध इतना बड़ा नहीं है जितना की श्रेष्ठ बनने कि धृष्टता करना।

 

11. कट्टरपंथी वो होता है जो अपना दिमाग बदल नहीं सकता और विषय वो बदलता नहीं है।

 

12. Winston Churchill, मज़ाक एक बहुत ही गंभीर चीज होती हैं।

 

13. सभी महान चीजें सरल होती हैं और कईयों को एक शब्द में व्यक्त किया जा सकता है। स्वतंत्रता,न्याय, सम्मान,कर्तव्य,दया, आशा।

 

14. नजरिया एक छोटी सी चीज होती है जो बड़ा फ़रक डालती है।

 

15. दिक्कतों को पार पाना अवसरों को जीतना है।

 

16. सभी के दिन आते हैं और कुछ दिन औरों से ज्यादा लम्बे होते हैं।

 

17. जब आपको किसी को मारना ही है तो विनम्र होने में क्या जाता है।

 

18. हम अनकहे शब्दों के मालिक हैं, पर जिन शब्दों को हम मुंह से निकलने देते हैं उनके ग़ुलाम हो जाते हैं।

 

19. पूंजीवाद की बुराई है अच्छी चीजों का बराबर से ना बांटना , समाजवाद की अच्छाई है बुरी चीजों का बराबर से बांटना।

 

20. Winston Churchill, रूस किसी रहस्य के अन्दर छिपे ऱाज में लिपटी पहेली है।

 

21. कभी नहीं, कभी नहीं, कभी नहीं हार मानो।

 

22. पतंगें हवा के विपरीत सबसे अधिक ऊँचाई छूती हैं – उसके साथ नहीं।

 

23. Winston Churchill, यदि आप नरक से गुज़र रहे हों तो चलते जाइये।

 

24. मैं सबसे अच्छे से आसानी से संतुष्ट हो जाता हूँ।

 

25. मैं हमेशा सीखने के लिए तैयार हूँ, पर मैं हमेशा सीखाया जाना पसंद नहीं करता।

 

26. एक राजनीतिज्ञ में ये क़ाबिलियत होनी चाहिए की वो पहले से बता सके कि कल,अगले हफ्ते, अगले महीने,और अगले साल क्या होने वाला है। और उसमे ये क्षमता होनी चाहिए की बाद में वो बता सके कि ऐसा क्यों नहीं हुआ।

 

27. एक युद्धबंदी वो व्यक्ति होता है जो तुम्हे मारना चाहता है, पर मार नहीं पता,और फिर तुमसे कहता है कि उसे मत मारो।

 

28. Winston Churchill, अपने शब्द वापस लेने से मुझे कभी बदहज़मी नहीं हुई।

 

29. महान और अच्छा कभी – कभार ही एक ही आदमी होता है।

 

30. स्वस्थ्य नागरिक किसी देश के लिए सबसे बड़ी संपत्ति होते हैं।

 

31. बहुत आगे देखना एक गलती है। एक वक़्त में किस्मत की जनजीर की एक ही कड़ी संभाली जा सकती है।

 

32. Winston Churchill, युद्ध मुख्य रूप से भूलों की एक सूची है।

 

33.  फ्रैंकलिन रूजवेल्ट से मिलना शैम्पेन की अपनी पहली बोतल खोलने जैसा था। उन्हें जानना उसे पीने के समान था।

 

34. मैं कभी कारवाई के बारे में चिंता नहीं करता हूँ, पर निष्क्रियता के बारे में करता हूँ।

 

35. खड़े होकर बोलने के लिए साहस चाहिए होता है, बैठ कर सुनने के लिए भी साहस चाहिए होता है।

 

36. अपने जोश में बिना किसी कमी के असफलताओं का सामना करना ही सफलता है।

 

37. हम सब कीड़े हैं और मेरा ये मानना है कि मैं एक जुगनू हूँ।

 

38. चट्टान को हिला देने वाला भी पहले छोटे पत्थरों से शुरुआत करता है।

 

39. जब तक सत्य घर से बाहर निकल पाता है तब तक तो झूठ आधी दुनिया घूम चूका होता है।

 

40. सुधार का मतलब है बदलना और परफेक्ट होने का मतलब है बार बार बदलना।

 

41. Winston Churchill, शक्ति या बुद्धिमता से नही, सतत प्रयासों से ही हमारी क्षमताएं सामने आती है।

 

42. मैं हमेशा पहले से भविष्यवाणी करने से बचता हूँ , क्योंकि घटना घट जाने के बाद भविष्यवाणी करना काफी बेहतर होता है।

 

43. आदमी जो कहता है वो कर सकता है और जो आदमी कहता है वो नहीं कर सकता दोनों सही हैं।

 

44. नदी में बहते हुए पानी की तरह वक्त भी गुजर जाता है।

 

Winston Churchill

 

सुकरात के अनमोल विचार 

 

45. Winston Churchill, दोस्तों से धोखा खाने की अपेक्षा उन पर संदेह करना ज्यादा शर्मनाक है।

 

46. चोटें भूल जाओ, दया कभी मत भूलो।

 

47. केवल सबसे बुद्धिमान और सबसे मुर्ख लोग कभी नहीं बदलते।

 

48. बिना कुछ सीखे आप कोई भी किताब नहीं खोल सकते।

 

49. भविष्य में आने वाले सभी बड़े साम्राज्य दिमाग से काम लेने वाले होंगे।

 

50. युद्ध में सत्य इतना कीमती होता है की उसे हमेशा झूठ के बॉडीगॉर्ड के साथ ही होना चाहिये।

 

51. आदमी प्रायः सच से टकराकर लड़खड़ा जाता है पर ज्यादातर लोग खुद को संभालकर आगे बढ़ जाते है। ऐसे जैसे की कुछ हुआ ही नहीं।

Spread the love
Author: Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *